स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों के परिजनों को किया सम्मानित

60

24 Jan  मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत एवं विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचन्द अग्रवाल ने गुरूवार को थानों में स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों के परिजनों को सम्मानित किया। इस अवसर पर आजादी के आन्दोलन में प्रतिभाग करने वाले 12 सैनानियों के परिजनों को सम्मानित किया गया। जिन लोगों को सम्मानित किया गया उनमें स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री हरि सिंह सोलंकी, श्री किशन सिंह, श्री भूरिया सिंह, श्री बुद्वि प्रकाश, श्री पंचम सिंह कृषाली, श्री देव नारायण, श्री सैनपाल सिंह भिडोला, श्री पदम सिंह सौलंकी, श्री सूरत सिंह चैहान, श्री गौरीश वर्मा, श्री बांकेलाल गर्ग, मदन सिंह रावत के आश्रित शामिल है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि थानों हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की स्मृतियों से जुड़ा हुआ क्षेत्र है। जिन्होंने देश की आजादी में अहम योगदान दिया। स्वतंत्रा संग्राम सेनानी हमारी प्रेरणा के स्रोत हैं।  देश की आजादी के लिए दिया गया उनका बलिदान एवं योगदान हमारी नई पीढ़ियों को प्रेरणा प्रदान करेगी और देश की रक्षा के लिए हमें जब भी जरूरत पड़ेगी इन स्वतंत्रता संग्राम सैनानियो के साहस से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ेंगे।

मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रा संग्राम सैनानियों की स्मृतियों को संजोने के लिए थानों में पानी की टंकी एवं विद्यालय के जीर्णोद्धार के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने को कहा। उन्होंने कहा कि थानों एवं रायपुर अस्पताल को एम्स को दिया है। इन अस्पतालों में एम्स ऋषिकेश द्वारा स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जायेंगी। इन अस्पतालों में सेवाएं शुरू करने के लिए एम्स ऋषिकेश को प्रस्ताव भेजा गया है। एम्स में जल्द ही दो सहायकों की नियुक्ति की जा रही है, जो मरीजों को स्वास्थ्य सम्बधी सुविधाओं के बारे में जानकारी देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र में विकास से संबधित प्रमुख कार्यों बिजली, पानी, सड़क आदि मूलभूत सुविधाओं के लिए क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों के माध्यम से प्रस्ताव भेजे जाए, उनका जल्द समाधान किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर्रावाला में 300 बैड का जच्चा बच्चा अस्पताल खोला जायेगा। जिसका जल्द ही शिलान्यास किया जायेगा।

विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेमचन्द अग्रवाल ने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने देश की आजादी के लिए अपना बलिदान दिया है, उनके परिजनों की समस्याओं का निराकरण करना हम सबका दायित्व है। विधान सभा अध्यक्ष ने वीर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का भावपूर्ण स्मरण करते हुए उन्हे साहस एवं पराक्रम का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि अपने इन वीर सेनानियों का सम्मान करना भी हम सबका दायित्व है, इन वीर सैनानियों के सिद्वांत एवं कर्तव्य निष्ठा सदैव हमें प्ररेणादायी रहेगी।

इस अवसर पर डेरी फेडरेशन के अध्यक्ष श्री बृजभूषण गैरोला, श्रीमती आशा कोठारी,  श्री नवीन चैधरी, मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. के.एस पवांर, श्री राजेन्द्र मनवाल, श्री हरीश  कोठारी, श्री बिरेन्द्र कृषाली आदि उपस्थित थे।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने ग्राम झबड़ानी में कोटी मेचक के ग्राम प्रधान स्व. श्री अशोक सोलंकी के आवास पर जाकर शोक संवेदना व्यक्त की व उनके परिजनों को सांत्वना दी।