निवेशकों की समस्याओं का समाधान तेजी से व्यक्तिगत ध्यान देकर करें

88

23 Jan  मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में सिंगल विंडो सिस्टम तथा राज्य प्राधिकृति समिति की बैठक सचिवालय सभागार में सम्पन्न हुई।

मुख्य सचिव द्वारा उद्यमियों से विभिन्न विभागों द्वारा लिये गये सुझावों पर फीड बैक  मांगा गया। मुख्य सचिव श्री सिंह द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि निवेशकों की समस्याओं का समाधान तेजी से व्यक्तिगत ध्यान देकर करें। इन्वेस्टर समिट के दौरान किये गये एम.ओ.यू. के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा की गयी।

अपर सचिव उरेड़ा कैप्टन आलोक शेखर तिवारी द्वारा बताया गया कि पिथौरागढ़ की तीन लघु जल विद्युत परियोजनाओं की आवश्यक निविदाएं प्रकाशित हो चुकी है, तथा रूट हाइड्रोकार्बन प्रा0 लि0 हरिद्वार द्वारा 2.4 मेगावाॅट क्षमता के बायो गैस प्रोजेक्ट विद्युत परियोजना हेतु ऊर्जा क्रय एग्रीमेन्ट यू.पी.सी.एल. के साथ किया जा चुका है और परियोजना का  कार्य प्रारम्भ हो चुका है, सोलर तथा पिरूल आधारित विद्युत उत्पादन की योजना परियोजना के निर्माण हेतु निविदाएं वित्त विभाग को परामर्श हेतु भेज दी गयी है, जो अगले सप्ताह प्रकाशित कर दी जायेगी। उद्यान की चर्चा के दौरान निदेशक उद्यान आर.पी. श्रीवास्तव ने बताया कि 18.86 करोड की लागत की खाद्य एवं प्रसंस्करण इकाई स्टेलर कोल्ड चेन प्रोजेक्ट की स्थापना हो चुकी है तथा सन लाइट इण्डिया एग्रो प्रोड्यूश लिमिटेड की भूमि परिवर्तन के संबंध में जानकारी से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि 01 हेक्टेयर क्षेत्रफल में लगने वाली इस यूनिट में लगभग 20 करोड रूपए निवेश किया जायेगा। उन्होंने हिमालय मेगा फूड पार्क महुआ खेडा काशीपुर प्रोजेक्ट की प्रगति पर अद्यतन जानकारी दी।

मुख्य सचिव को विभागवार किये गये एम.ओ.यू. के सम्बन्ध में संबंधित सचिव/विभागाध्यक्षों द्वारा अवगत कराया गया।

एकल खिड़की अधिनियम के अन्तर्गत 78 करोड़ रुपये के प्रस्तावों पर प्राधिकृत समिति द्वारा अनुमोदन प्रदान किया गया, 600 करोड़ के प्रस्ताव को भू-क्रय की अनुमति से सम्बन्धित है, मुख्य सचिव द्वारा निर्देश दिये गये कि उन्हें राजस्व विभाग की टिप्पणी के साथ आगामी बैठक में प्रस्तुत किया जाए।

एम.ओ.यू. की ग्राउण्डिंग से सम्बन्धित प्रकरणों को तीव्रता से निस्तारित करने के निर्देश मुख्य सचिव द्वारा दिये गये।
प्रमुख सचिव आनंद बर्द्धन द्वारा आबकारी, आर.के सुधांशु द्वारा आयुष एवं आई.टी., सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर द्वारा पर्यटन, सचिव नितेश झा द्वारा चिकित्सा के निवेश के प्रस्तावों की अद्यतन प्रगति पर जानकारी दी गयी।