उत्तराखण्ड सीएम एप का सफलतम एक साल हुआ पूरा – जनता के बीच एप हुआ लोकप्रिय

555
CM App Uttarakhand one year completed उत्तराखण्ड सीएम एप का सफलतम एक साल हुआ पूरा
CM App Uttarakhand one year completed
देहरादून। गुड गवर्नेंस और जनता के साथ बेहतर संवाद के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत लगातार प्रयासरत हैं। सोशल मीडिया और तकनीक के जरिए मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड जनता के साथ जनसंवाद में सक्रिय हैं। इसी कड़ी में 1 साल पहले 15 दिसम्बर 2017 को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनता से सीधे जुड़ने के लिए सीएम एप को को लॉन्च किया था।
15 दिसम्बर 2018 को सीएम एप के सफलतम एक साल पूरा होने पर मुख्यमंत्री ने इस एप को जनता के बीच लोकप्रिय होने पर जनता और खासकर युवा वर्ग की सराहना की है। उन्होंने सीएम एप के सभी उपयोगकर्ताओं को बधाई दी है जिन्होंने इसका इस बीते एक साल में उपयोग किया है। लांच होने के कुछ माह के भीतर ही यह एप जन शिकायतों के त्वरित निस्तारण के लिए जनता के बीच लोकप्रिय हो गया है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा सीएम एप के लांच होने से जनता को उत्तराखण्ड के बहुत दूरस्थ गाँव और शहरों से अपनी शिकायतों को लेकर देहरादून आने की मजबूरी नहीं रह गयी है इससे जनता का समय और धन दोनों की बचत हो रही है .इससे मुख्यमंत्री कार्यालय में कागजो में आने वाली शिकायते भी कम हो गयी हैं और अधिकतर शिकायते अब सीएम एप के माध्यम से ऑनलाइन ही आ रही हैं।.
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंन्द्र ने बताया कि हर विभाग से सम्बन्धित शिकायते एप के माध्यम से उन तक पहुच रही हैं और शिकायत को त्वरित समाधान के लिए अधिकारयों को प्रतिदिन ऑनलाइन ही निर्देशित किया जा रहा है। समय समय पर जिला अधिकारियों और विभाग अध्यक्षों से शिकायतों का डाटा मंगवाया जाता है और उनकी समीक्षा की जाती है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा सीएम एप से विभागों को भेजी गयी शिकायतों का फोलोअप भी किया जाता है ताकि वह समय पर निस्तारित हो सकें।
उत्तराखण्ड सीएम एप की विशेषताएं
– मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ये कोशिश है कि एप पर आने वाली जनशिकायतों का संज्ञान लेकर उनका त्वरित निस्तारण किया जा सके। एप के माध्यम से आप देश के किसी भी कोने से सीधे मुख्यमंत्री से जुड़ सकते हैं । अपनी शिकायतें और सुझाव सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय तक भेज सकते हैं ।
– इस एप के कंटेंट आप इंग्लिश और हिंदी दोनों ही भाषाओं में पढ़ सकते हैं।
– यह एप जनता से सीधा संवाद स्थापित करने, जन शिकायतों को सुनने और उनके त्वरित निस्तारण में मददगार साबित हो रहा है ।
– इस ऑफिसियल मोबाइल एप को Android मोबाइल फोन में Google Play Store या Apple फोन में App Store  में जाकर डाउनलोड कर सकते हैं।
– इस एप के जरिए उत्तराखंड सरकार से संबंधित सभी खबरों को एक क्लिक से पढ़ या वीडियो देख सकते हैं। सरकार की योजनाओं की जानकारी, उनकी प्रगति और नए प्रयासों के बारे में एप से जानकारी मिलती है।
– इस पर एप पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र द्वारा किए गए ट्वीट भी देखे जा सकते हैं।
– इस एप पर सभी जिलों के जिलाधिकारियों व एसएसपी के फोन नंबर मौजूद हैं। जरूरत पड़ने पर जनता सीधे संबंधित अधिकारियों से संपर्क कर सकती है।
– युवा वर्ग सीधे तौर पर इस एप के जरिए मुख्यमंत्री से जुड़ सकते हैं।
– एप से अपने आसपास और क्षेत्र की किसी भी घटना या कार्यक्रम की सूचना सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजी जा सकती है।
– यह एप श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री उत्तराखंड और जनता के बीच बेहतर संवाद स्थापित करने में सशक्त माध्यम है।
सीएम एप के माध्यम से प्रथम 1 साल की अवधि में हुए कुछ मुख्य समाधानों की सूची निम्न है
1
उत्तराखण्ड के दूरस्थ गाँवों में सीएम एप ने पहुचाई बिजली, पहली बार बिजली से रोशन हुए कई गाँव
सीएम एप पर शिकायत प्राप्त होने पर कई ऐसे गाँवों में बिजली पहुचाई गई जहाँ आजादी के बाद से आज तक बिजली नहीं पहुची थी इनमे शिकायत कर्ताओं प्रदीप फर्स्वान,विक्रम सिंह,मुकेश फर्स्वान, कलम सिंह गङिया ने गढ़वाल छेत्र के चमोली जिले के रतगाँव रूईसाण,डुंगरी,कोलपुडी,देवसारी में और कुमांउ छेत्र के चम्पावत जिले के जगदीश सिंह ने बालीगाँव,पटनगाँव में अभी तक बिजली ना पहुचने की शिकायत सीएम एप पर दर्ज कराई थी मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर यह सभी गाँव बिजली की रोशनी से जगमगा उठे हैं।
2
उत्तराखंड की डॉक्टर दम्पति के लिए वरदान साबित हुई सीएम एप
डा०. केपी जोशी, सीनियर फिजीशियन जून 2015 को बेस अस्पताल श्रीनगर से रिटायर हुए थे। सिस्टम की पेचिदगियों के कारण लगभग तीन वर्ष बीत जाने पर भी डा०. जोशी को पेंशन और 21 महीने की तनख्वाह भी नहीं मिल पाई थी। इसी प्रकार डा० केपी जोशी की पत्नी डा०. सुषमा जोशी दून अस्पताल में वरिष्ठ पेथोलोजिस्ट थीं। वे भी वे दिसम्बर 2015 में रिटायर हो गई थीं। डा०. सुषमा जोशी ने बताया कि ढाई वर्ष बीत जाने पर भी इनकी पेंशन स्वीकृत नहीं हुई। सीएम एप पर शिकायत प्राप्त होते ही मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने त्वरित कार्यवाही करते हुए उक्त दोनो डाक्टर की बकाया धनराशी जारी कर दी और पेंशन भी चालू करवा दी।
3
सीएम एप ने दिलायाUPCL के रिटायर्ड इंजीनयर के रुपये 17 लाख पेंशन एरियर का बकाया भुगतान
इंजीनियर देवेन्द्र सिंह पंवार अप्रैल 2016 को न्च्ब्स् (ऊर्जा विभाग) से सहायक अभियंता के पद से रिटायर हुए थे। सिस्टम की पेचिदगियों के कारण लगभग दो वर्ष बीत जाने पर भी रिटायर्ड इंजीनियर देवेंद्र सिंह पंवार का पेंशन एरियर का लगभग रुपये 17 लाख 78 हजार का भुगतान नही हुआ। सीएम एप पर यह शिकायत प्राप्त होते मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के त्वरित कार्यवाही के निर्देश पर इंजीनियर देवेन्द्र सिंह पंवार का पूर्ण बकाया भुगतान हो गया है।
4
सीएम एप ने दिलाई गरीब परिवारों को धुएं से मुक्ति, मिला उज्जवला गैस कनेक्शन
मुख्यमंत्री कार्यालय को कुछ दिन पूर्व सीएम एप पर शिकायत प्राप्त हुई थी कि पिथौरागढ जिले के चैड़ा धुरोली गाँव, तहसील गंगोलीहाट में कुछ गरीब परिवारों को उज्जवला योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। एक सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा सीएम एप पर शिकायत प्राप्त होने पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर अधिकारीयों द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए तीन परिवार क्रमशः श्रीमती मधुली देवी पत्नी श्री केशर सिंह, श्रीमती मधुलि देवी पत्नी श्री लक्षम सिंह व श्रीमती माधवी देवी पत्नी श्री केशर सिंह को उत्तराखंड राज्य उज्ज्वला योजना के अंतर्गत नया गैस कनेक्शन दे दिया गया है।
5
सीएम एप में शिकायत करने पर शिक्षक को मिला RS 13 लाख बकाया GPF और रुकी पेंशन हुई चालू
टिहरी जिले के सौड भदूरा निवासी भगवती प्रसाद उनियाल मार्च 2017 में राजकीय जूनियर हाई स्कूल सेमधार कोटाल गाँव प्रतापनगर टिहरी गढ़वाल से सेवानिवृत हो गए थे, लेकिन ना तो उनकी पेंशन शुरू हो पायी थी और ना ही उनका ळच्थ् का पूरा पैसा मिला।सीएम एप में शिकायत करने पर सीएम श्री त्रिवेंद्र के निर्देश पर शिक्षक को त्ै 13 लाख बकाया ळच्थ् मिल गया और रुकी पेंशन भी चालू हो गयी।
6
CM उत्तराखंड TSR ऐप पर शिकायत के 24 घंटे में ही बदला गया ट्रांसफार्मर
जनपद पिथौरागढ़ के ग्राम मझेड़ा में बिजली के ट्रांसफार्मर काफी दिनों से खराब होने की सीएम एप पर प्राप्त शिकायत पर  मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर UPCL द्वारा तत्काल कार्यवाही करते  हुए  खराब विद्युत ट्रांसफार्मर को बदल कर मात्र 24 घंटे  में गांव की विद्युत ब्यवस्था बहाल कर दी गयी।
7
CM APP बनी 67 वर्षीय धरीराम के बुढ़ापे की लाठी
चंपावत जिले के पाटी ब्लाक के गड्यूडा निवासी गरीब परिवार के 67 वर्षीय धरीराम की पिछले 15 महीनो से वृद्धावस्था पेंशन रुकी हुई थी । सीएम एप पर यह शिकायत प्राप्त होने पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर वृद्धावस्था पेंशन त्वरित शुरू करवा दी गयी।
8
सीएम मोबाइल एप पर शिकायत के बाद ध्वस्त हुआ सरकारी भूमि पर अवैध निर्माण।
नैनीताल जिले के गरमपानी खैरना बाजार में सरकारी भूमि पर कब्जा कर अवैध निर्माण किये जाने की सीएम एप पर शिकायत मिली थी । सीएम त्रिवेंद्र के निर्देश पर मात्र 24 घंटे में ही सरकारी भूमि पर अवैध निमार्ण को ध्वस्त किया व पीपीएम में चालन करते हुए जिला विकास प्राधिकरण के अन्तर्गत 27ध्1 एक्ट के तहत अवैध निर्माण करने वाले भू माफियाओं पर वैधानिक कार्यवाही की गई।
9
CM के मोबाइल एप पर शिकायत करने पर नई टिहरी की दिव्यांग एवं वृद्ध महिला के घर लगा पानी का कनेक्शन
टिहरी जनपद के विकास खंड चम्बा के भेटुडी ग्राम की दिव्यांग बुर्जुग महिला श्रीमती आनन्दी उनियाल के पानी के नए कनेक्शन की समस्या सीएम एप पर शिकायत करने पर का त्वरित समाधान हुआ है , जो पेयजल की समस्या से परेशान थी, उन्हें काफी समय से पानी गांव के दूसरे स्रोत से लाना पड रहा था।
10
सीएम मोबाइल एप पर दर्ज शिकायत ने दिलवाया बी० पी० एल० महिला को बिजली का कनेक्शन
टिहरी जिले के घनसाली निवासी श्रीमती जोत्रा देवी कुमाइ की बी० पी० एल० स्कीम के तहत बिजली का कनेक्शन न लगने की शिकायत प्राप्त होने पर 24 घंटे में ही सौभाग्य योजना के तहत निशुल्क कनेक्शन लगवा दिया गया।
11
सीएम एप पर शिकायत के बाद जिला शिक्षा अधिकारी देहरादून ने अभिभावकों के लिए किये 2 फोन नंबर जारी
जिला शिक्षा अधिकारी देहरादून ने सीएम एप पर शिकायत के बाद मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर अभिभावकों के लिए छब्म्त्ज् की किताबों से सबंधित शिकायतों के लिए 24 घंटे के अन्दर ही 2 फोन नंबर जारी किये और शिकायतों के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया।
12
10 वर्षों से किसान कर रहा था इन्तजार, मुख्यमंत्री एप्प पर शिकायत करते ही मात्र 18 घंटे में मिली बिजली
नैनीताल जिले के बेताल घाट क्षेत्र के कटमी गजार गाँव के बंजर बलुई भूमि पर कड़ी मेहनत से अपने और अपने परिवार की तकदीर सवारने वाले किसान हरगिरी 10 वर्षों से अपने खेत में बिजली लगने का इन्तजार कर रहे थे , सीएम एप पर शिकायत करते ही सीएम श्री त्रिवेंद्र के निर्देश पर मात्र 18 घंटे में सौभाग्य योजना के तहत बिजली का निशुल्क कनेक्शन लगा दिया गया।
13
मुख्यमंत्री उत्तराखंड एप पर शिकायत करने पर मिली मृतक आश्रित को नियुक्ति
पिथौरागढ़ जिले के धारचूला निवासी श्री जितेन्द्र सिंह सामंत का शिक्षा विभाग पिथौरागढ़ में मृतक आश्रित के रूप में नियुक्ति का प्रकरण 27 जून 2017 से लंबित था। सीएम एप पर शिकायत करने पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर जितेन्द्र सिंह सामंत की शैक्षिक योग्यता देखते हुये व एम०ए०(अंग्रेजी), बीएड, सी०टी०ई०टी० प्रमाणपत्र धारक होने पर उन्हें मृतक आश्रित नियुक्ति पत्र- सहायक अध्यापक एल०टी० अंग्रेजी (अस्थाई) के पद पर रा०ई०का० नामिक पिथौरागढ़ में नियुक्ति दे दी गयी।
14
मुख्यमंत्री एप पर शिकायत करने पर 24 घंटे के अन्दर मिला मोबाइल
नैनीताल जिले के शीशमहल हल्द्वानी निवासी विनय जोशी का मोबाइल करीब एक माह पहले खो गया था, जिसकी उन्होंने काठगोदाम थाना मैं जाकर रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी, लेकिन उनके मोबाइल का कोई पता नही चल पाया थाद्यतब उन्होंने मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के सीएम एप पर अपने मोबाइल खोने की शिकायत मोबाइल के प्डप्म् नंबर के साथ शिकायत दर्ज करायी शिकायत दर्ज करने के 24 घन्टे के भीतर ही नैनीताल पुलिस के द्वारा मोबाइल को ढूंढकर विनय जोशी को दे दिया गया।
15
CM मोबाइल एप पर शिकायत करने पर डालनवाला देहरादून के गरीब परिवार के घर तुरंत लगा बिजली का कनेक्शन
देहरादून डालनवाला निवासी गरीब परिवार श्री नन्द किशोर के घर पर पिछले 30 वर्षों से बिजली नहीं थी एक सामाजिक सामजिक कार्यकर्ता अनुराग भाटिया ने यह शिकायत सीएम एप पर की .मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर यू.पी.सी.एल. के अधिकारियों ने त्वरित कार्यवाही करते हुए श्री नन्द किशोर के घर पर नया बिजली का कनेक्शन सौभाग्य योजना के तहत निशुल्क लगा दिया।
16
मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत करने पर, 3 मोबाइल लुटेरे हुए गिरफ्तार
रानीपुर हरिद्वार थाना क्षेत्र में रात को आठ बजे श्री बलबीर सिंह खानी अपनी ड्यूटी से वापस आ रहे थे, इस दौरान तीन लड़के बलबीर सिंह खानी का मोबाईल लूटकर फरार हो गयेद्य वारदात के तुरंत बाद बलबीर सिंह खानी ने कोतवाली रानीपुर में उनके मोबाईल लूट की शिकायत दर्ज करायीद्य शिकायत के त्वरित समाधान के लिए मुख्यमंत्री उत्तराखंड मोबाइल एप पर भी इस लूट की शिकायत दर्ज कराई।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर एस०एस०पी० हरिद्वार ने मुख्यमंत्री कार्यालय से मोबाइल एप पर करायी गयी मोबाईल लूट की शिकायत प्राप्त होते ही एस०ओ०जी० हरिद्वार टीम को लूटे गए मोबाइल को सर्विलांस पर लगाने के आदेश दिए और हरिद्वार पुलिस को पहचान के आधार पर लूटेरों को खोजने के निर्देश दिएद्य हरिद्वार पुलिस की तत्परता से कुछ ही दिनों मे बारदात में शामिल लूटेरों को पकड़ लिया गया और लूटा हुआ मोबाइल शिकायतकर्ता के सुपुर्द कर दिया गया।
17
10 वर्षों के इन्तजार के बाद मुख्यमंत्री उत्तराखंड मोबाइल एप पर शिकायत करने पर स्कूल में लगा बिजली का कनेक्शन
कालसी ब्लाक के श्री राकेश तोमर ने मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत दर्ज करायी थी कि राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाघना, कालसी, जिला देहरादून में बिजली की समस्या है। पिछले 10 वर्षों से जब से स्कूल खुला है, स्कूल में बिजली नहीं है। जिस देहरादून जिले के कालसी ब्लाक के श्री राकेश तोमर ने मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत दर्ज करायी थी कि राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय बाघना, कालसी, जिला देहरादून में बिजली की समस्या है। पिछले 10 वर्षों से जब से स्कूल खुला है, स्कूल में बिजली नहीं है। जिस कारण विद्यार्थियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और स्कूल में पानी की लाईन पुरानी होने और बीच-बीच में कई जगह पर टूट जाने के कारण पिछले डेढ़ साल से पानी नहीं आ रहा था। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र के निर्देश पर इस विद्यालय में दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के अंतर्गत बिजली का कनेक्शन लग गया है और पानी की लाईन दुरुस्त करने के साथ ही सुचारू रूप से पेयजल सप्लाई शुरू हो गयी है।
18
मुख्यमंत्री मोबाइल एप पर शिकायत करने पर मिली डेढ़ साल से रुकी 6.66 लाख रूपये जी.पी.एफ. की धनराशि
नारायणबगड़ जनपद चमोली निवासी श्री जयबीर सिंह द्वारा सीएम एप पर शिकायत मिली थी कि नवम्बर 2016 को कर्णप्रयाग तहसील से राजस्व उपनिरीक्षक के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद से विभाग द्वारा उनके जीपीएफ का बकाया भुगतान नहीं किया गया था। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के निर्देश पर राजस्व विभाग द्वारा शिकायतकर्ता की समस्या का समाधान किया गया। शिकायतकर्ता श्री जयबीर सिंह को उनके जीपीएफ के 6.66 लाख रूपये मिल गये है।
19
जनपद चमोली के सेकोट, चिनोला आदि गांवो के किसानों के लिये सीएम एप पर शिकायत दर्ज करने पर पहुँची खाद
जनपद चमोली के ग्राम सभा सेकोट से ग्रामीणों द्वारा मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड मोबाइल एप पर शिकायत प्राप्त हुई थी कि सेकोट जो की घुड़साल, बैंडू, देवर, चिनोला, टेटुना, रिखोली आदि गावों का केंद्र बिंदु है। यहां पर वर्षो से कृषकों को खाद वितरित की जाती है, लेकिन इस वर्ष उपरोक्त गाँवों के लिए खाद नही पहुँची है। जिस कारण कृषकों को जिला मुख्यालय गोपेश्वर अथवा अन्य दूरस्थ स्थानों से खाद लानी पड रही है। जिससे किसानो को विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड रहा है। शिकायत प्राप्त होते ही मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र के त्वरित निर्देश पर अधिकारीयों द्वारा गांवों में खाद उपलब्ध करा दी गयी
20
8 महीने से नहीं हुआ  था ESI बिल का भुगतान, CM एप ने किया समाधान
नैनीताल के निवासी प्राइवेट कम्पनी के कर्मचारी श्री लीला राम ने अस्पताल में उपचार व दवाईयों के बिल क्लेम के तौर पर कर्मचारी राज्य बीमा कार्यालय रुद्रपुर को अक्टूबर 2017 में जमा कर दिये गये थे, लेकिन क्लेम की धनराशी प्राप्त नहीं हुई थी। सीएम एप पर शिकायत प्राप्त होते ही मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र के निर्देश पर कर्मचारी राज्य बीमा योजना कार्यालय द्वारा त्वरित समाधान करते हुए बीमांक श्री लीला राम के प्रतिपूर्ति दावा बिल लगभग रूपए 59,000 का भुगतान करा दिया गया है