उत्तराखण्ड राज्य को सर्वश्रेष्ठ श्रेणी के राज्यों में पुरस्कृत किया

6

27 Nov  38 वें भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, प्रगति मैदान नई दिल्ली में उत्तराखण्ड राज्य को सर्वश्रेष्ठ श्रेणी के राज्यों में पुरस्कृत किया गया। इस वर्ष के आयोजन की थीम ग्रामीण एमएसएमई थी जिन पर आधारित उत्पादों को इस मेले में प्रदर्शित किया गया।

इस आयोजन में उत्तराखण्ड राज्य के पेवेलियन में केदारनाथ पुनर्निर्माण के कार्याे को प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया। इसके अलावा पर्यटन विभाग की होम स्टे योजना, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा पहाडी अनाजों पर आधारित न्यट्रास्यूटिकल उत्पाद के विकल्प प्रदर्शित किये गये जिसे ज्यूरी द्वारा विशेष रूप से सराहा गया। इसके साथ ही राज्य में आयुष व वेलनेस क्षेत्र में संभावनाओं को भी बखूबी प्रदर्शित किया गया। राज्य में हथकरघा व हस्तशिल्प उत्पादों को भी प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया। इन उत्पादों को हिमाद्रि ब्राण्ड नाम से विपणन किया जा रहा है। आर्गेनिक शहद भी दर्शको में प्रमुखता से मांग की वस्तु रही। उत्तराखण्ड में फिल्म शूटिंग के क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों को भी इस आयोजन में प्रदर्शित किया गया।

राज्य में माह अक्टूबर, 2018 में सम्पन्न हुए निवेशक सम्मेलन की फिल्में व निवेश हेतु चिन्हित फोकस क्षेत्र विनिर्माण, पर्यटन व आतिथ्य, बुनियादी ढांचा, फिल्म शूटिंग, आई.टी/बायोटेक, कृषि व खाद्य प्रसंस्करण, स्वास्थ्य और कल्याण, शिक्षा और कौशल के बारे में भी जानकारी दी गयी। जिसे निवेशकों व दर्शकों द्वारा विशेष रूप से देखा गया और निर्णायक मण्डल द्वारा भी इस पर अपने मूल्यांकन में महत्व दिया गया। इस वर्ष उत्तराखण्ड के साथ-साथ बिहार व हिंमाचल प्रदेश को भी पुरस्कृत किया गया।

मेले के समापन अवसर पर केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री सुरेश प्रभु द्वारा पुरस्कार वितरण किया गया। उत्तराखण्ड राज्य का पुरस्कार उद्योग निदेशक, श्री सुधीर चन्द्र नौटियाल द्वारा प्राप्त किया गया।