सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल के 18वें स्थापना दिवस पर मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरित किये

16

27 Oct  मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत शनिवार को सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल के 18वें स्थापना दिवस समारोह मे सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री ने स्कूल के मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरित करते हुए छात्रों का आह्वान किया कि उन्हें शिक्षा के साथ ही मैं से हम एवं सेल्फ से सोसाइटी की ओर भी सोचना होगा। यही शिक्षा की भी सफलता है। उन्होंने कहा कि आधुनिक सूचना तकनीकि का उपयोग भी हमें मैं से हम के लिये करना होगा तभी आधुनिक तकनीकि का अर्थ साकार हो सकेगा। उन्होंने इसमें आम आदमी की भागीदारी कैसे सुनिश्चित हो सकती है इस पर भी ध्यान देने को कहा।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि आज का युवा भविष्य का भारत है। शिक्षा के साथ ही अन्य सामाजिक क्षेत्रों में उनकी भागीदारी भी जरूरी है। हाल ही में आयोजित डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड में 150 स्कूली छात्रों की भी भागीदारी इसी उद्देश्य से करायी गयी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज हित से जुड़े कार्यों मे जनसहभागिता जरूरी है, तभी कार्यों में सफलता मिलती है। इसके लिये उन्होंने रिस्पना से ऋषिपर्णा तथा कोशी नदियों के पुनर्जीविकरण के लिये प्राप्त जन सहयोग का उदाहरण दिया जिसमें एक घंटे मे लाखों वृक्षों का रोपण इन नदियों के आस पास किया गया।

उन्होंने कहा कि हम किसी भी संकल्प को तभी परिणाम तक पहुंचा सकते है जब उसमें जन सहभागिता हो। उन्होंने शिक्षण संस्थाओं का आह्वान किया कि अपने आस पास के गांवों के विकास में भी योगदान दें। उन्होंने छात्रों से बड़ी व सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ने को कहा। छात्रों को मैं सब कुछ कर सकता हूॅ इस सोच के साथ आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर स्कूल की वार्षिक पत्रिका का भी विमोचन किया।

सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन श्री ओम पाठक ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि उनका संस्थान इस क्षेत्र के 5 इंटर कालेजों को आधुनिक शिक्षा के प्रसार में सहयोग देगा ताकि वहां के छात्र भी शिक्षा की नवीन तकनीकि की लाभ ले सके। उन्होंने कहा कि उनका कालेज शिक्षा की गुणवत्ता के लिये प्रयासरत है। स्कूल के हैडमास्टर श्री राशिद ने स्कूल के कार्यकलापों की जानकारी दी।