ज्ञान महाकुम्भ के सम्बन्ध में राज्यमंत्री डाॅ0 धन सिंह रावत ने ली बैठक

8

09 Oct  प्रदेश के सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 धन सिंह रावत ने विधान सभा स्थित सभाकक्ष में ज्ञान महाकुम्भ के सम्बन्ध में बैठक ली। बैठक में निर्देश दिया गया कि हरिद्वार पतंजलि में आयोजित होने वाला दो दिवसीय ज्ञान महाकुम्भ की समय पर तैयारियां पूरी कर ली जाय। मंत्री ने कहा उच्च शिक्षा की गुणवत्ता पर फोकस पहला ज्ञान महाकुम्भ नई शिक्षा नीति के लिए मील का पत्थर साबित होगा। यह पहला अवसर है जब, उच्च शिक्षा के सुधार के लिए एक बड़े स्तर पर आयोजन किया जा रहा है।

ज्ञान महाकुम्भ का स्वरूप राष्ट्रीय होगा। इसमें शिक्षा की गुणवत्ता, शोध कार्य और इनोवेटिक कार्य को दर्शाया जायेगा। 3 और 4 नवम्बर को आयोजित होने वाला ज्ञान महाकुम्भ में शिक्षा से सम्बन्धित विभिन्न स्टाॅल एवं प्रदर्शनी लगाये जायेंगे। 02 नवम्बर को प्रदर्शनी का उद्घाटन किया जायेगा। पूरे कार्यक्रम के दौरान 7 सत्रों का आयोजन किया जायेगा। ज्ञान महाकुम्भ का उद्घाटन राष्ट्रपति करेंगे। इस कार्यक्रम में अभी तक केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री एवं 17 राज्यों के शिक्षा मंत्री, अनेक कुलपति आई.आई.टी. और एन.आई.टी डायरेक्टर प्रतिभाग करेंगे।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव डाॅ0 रणवीर सिंह, अपर सचिव आर.राजेश कुमार, ज्योति खैरवाल, कुलपति श्रीदेव सुमन वि.वि. यू.एस.रावत,  कुलपति संस्कृति वि.वि. पीयूष कान्त दीक्षित, कुलपति दून वि.वि. सी.एस.नौटियाल इत्यादि मौजूद थे।