अतिवृष्टि के कारण हुई धान की फसलों के नुकसान के सम्बन्ध में ली बैठक

34

25 September  प्रदेश के कृषि, कृषि विपणन, कृषि प्रसंस्करण, कृषि शिक्षा, उद्यान एवं फलोद्योग एवं रेशम विकास मंत्री सुबोध उनियाल ने अपने यमुना कॉलोनी स्थित कैम्प कार्यालय में निदेशालय स्तरीय कृषि विभाग के समस्त अधिकारियों की एक अति महत्वपूर्ण बैठक ली, जिसमें जनपद उधमसिंहनगर में बारिश(अतिवृष्टि) के कारण हुई धान की फसलों के नुकसान के सम्बन्ध में चर्चा हुई।

बैठक में मंत्री द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि जनपद के प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर पर 1 कंट्रोल रूम बनाया जाय, जिससे कभी भी अतिवृष्टि की दशा में सीधे न्याय पंचायत स्तर पर स्थापित कंट्रोल रूम से सम्पर्क किया जा सके। साथ ही किसानों को फसलों के नुकसान का मुवावजा दिलवाने की प्रकिया को त्वरित गति से निस्तारित करने के भी निर्देश दिए। मंत्री ने दूरभाष पर कमिश्नर कुमायूं मंडल एवं जिलाधिकारी उधमसिंहनगर को भी निर्देशित किया कि जिन क्षेत्रों में फसलों को नुकसान हुआ उन क्षेत्रों का दौरा कर कृषि एवं राजस्व विभाग मिलकर जल्द से जल्द नुकसान का आंकलन तैयार करें, जिससे किसानों को सम्बंधित बीमा कंपनी द्वारा उनकी फसलों के नुकसान का मुआवजा समय पर दिया जा सके।

उनके द्वारा मुख्य कृषि अधिकारी उधमसिंहनगर से इस बात की भी जानकारी ली गई कि किन क्षेत्रों में अधिक नुकसान हुआ है, जिस पर मुख्य कृषि अधिकारी उधमसिंहनगर द्वारा मंत्री को जिले के खटीमा, जसपुर और गदरपुर क्षेत्र में अत्यधिक फसलों के नुकसान के संबंध में अवगत कराया। किसानों से अनुरोध किया गया है कि जलभराव की स्थिति में किसान तत्काल सम्बंधित जिले के मुख्य कृषि अधिकारी एवं सम्बंधित बीमा कंपनी को अवगत करायें।