इन्वेस्टर्स समिट के लिए फुलप्रूफ व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं- मुख्यमंत्री

29

11 September  मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि इन्वेस्टर्स समिट के लिए फुलप्रूफ व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। सभी तैयारियां हर हाल में इस माह के अंत कर ली जाएं। समिट में शामिल होने वाले उद्यमियों व निवेशकों को हर जरूरी जानकारी आसानी से उपलब्ध हों। इसके लिए पर्याप्त संख्या में काउंटर हों और उच्च स्तरीय अधिकारियों को इसकी जिम्मेवारी दी जाए। इन्वेस्टर्स समिट के आयोजन स्थल पर उत्तराखण्ड की प्राकृतिक सुंदरता व संस्कृति की झलकी दिखाई दे। मुख्यमंत्री सचिवालय में आयोजित बैठक में 7 व 8 अक्टूबर को देहरादून में होने वाले ‘डेस्टीनेशन उत्तराखण्ड: इन्वेस्टर्स समिट’ की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समिट में प्रतिभाग करने के लिए देश विदेश से बड़ी संख्या में  उद्योगपति, विभिन्न कम्पनियों के सीईओ, उद्यमी आएंगे। उन्हें बताया जाए कि उत्तराखण्ड में निवेश करना उनके लिए कैसे फायदेमंद है। उनकी हर जिज्ञासा का समाधान हो। इसके लिए सभी विभागीय अधिकारियों खासतौर पर समिट में फोकस किए जा रहे क्षेत्रों से संबंधित अधिकारियों के फिंगरटिप्स पर हर तरह की अद्यतन जानकारियां होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि निवेशकों के लिए बैकवर्ड लिंकेज की उपलब्धता पर भी विशेष ध्यान रखा जाए। इसके लिए यथासम्भव महिला स्वयं सहायता समूहों को जोड़ा जाए। तकनीकी काॅलेजों व विश्वविद्यालयों के चुनिंदा छात्रों को भी इसमें प्रतिभाग करने का अवसर दिया जाए। इससे उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा। हम इस मौके का लाभ उत्तराखण्ड के पर्यटन विशेष रूप से विंटर टूरिज्म को प्रोमोट करने में भी कर सकते हैं। पर्यटन भी इन्वेस्टर्स समिट का प्रमुख फोकस क्षेत्र है। इसमें ‘फोग फ्री विंटर टूरिज्म’ पंच लाईन हो सकती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर की साफ सफाई, सड़कों का सुधारीकरण, सौंदर्यीकरण आदि काम युद्धस्तर पर किए जाएं। हर हाल में इस माह के अंत तक सारी तैयारियां पूरी कर ली जाएं। समिट में भाग लेने वाले निवेशकों व उद्यमियों को परोसे जाने वाले भोजन में उत्तराखण्ड के व्यंजन भी रखे जाएं।

बैठक में बताया गया कि मुख्य आयोजन देहरादून के महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स स्टेडियम में किया जाएगा। यहां की तैयारियों का ब्लू पिं्रन्ट बना लिया गया है और उसके अनुरूप व्यवस्थाएं की जा रही हैं। आॅन लाईन रजिस्ट्रेशन प्रारम्भ किए जा चुके हैं। इसके अलावा उद्यमियों को आमंत्रण भी भेजे गए हैं। 12 सेक्टर्स बनाकर सचिव स्तर के अधिकारियों को इनकी जिम्मेवारी दी गई है। प्रवेश स्थान पर वेन्यू मैप भी प्रदर्शित होगा। दो दिवसीय सत्र के उद्घाटन सत्र को प्रधानमंत्री व समापन सत्र को केंद्रीय गृह मंत्री सम्बोधित करेंगे। दो दिवसीय समिट के दौरान कृषि व खाद्य प्रसंस्करण, मैन्यूफेक्चरिंग, शिक्षा व कौशल, इन्फ्रास्ट्रक्चर, आईटी, हेल्थ व वैलनैस, फिल्म शूटिंग विषयों पर सत्र आयोजित किए जाएंगे। इनमें विभिन्न केंद्रीय मंत्री, राज्य सरकार के मंत्री, सचिव व देश के जाने माने उद्योगपति व्याख्यान देंगे। सभी व्यवस्थाओं के लिए 8 समितियां बनाई गई हैं।

बैठक में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार डाॅ.के.एस.पंवार, तकनीकी सलाहकार डाॅ.नरेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव डाॅ. मनीषा पंवार, श्री आनंद वर्द्धन, डाॅ. भूपिंदर कौर औलख, सचिव श्री आर.के.सुधांशु, श्री दिलीप जावलकर, श्री नितेष झा, श्रीमती राधिका झा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।