छोटे-छोटे प्रयास बड़े परिणाम लाती है- मंत्री डाॅ0 हरक सिंह रावत

55

17 June  उत्तराखण्ड के वन एवं पर्यावरण मंत्री डाॅ0 हरक सिंह रावत ने चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि छोटे-छोटे प्रयास बड़े परिणाम लाती है। छोटे प्रयास क्रांति पैदा करती है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में होने वाले चतुर्थ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, योग के क्षेत्र में वैश्विक क्रांति पैदा करेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आगमन की तैयारियों से पूरा प्रदेश योगमय हो चुका है।

सुभाष नगर प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय केन्द्र में उक्त विश्व पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए डाॅ0 रावत ने कहा कि इस आयोजन से उत्तराखण्ड को नई पहचान मिलेगी और योग के क्षेत्र में नया आयाम स्थापित होगा। उन्होंने कहा कि आयुष विभाग योग और आयुर्वेद के क्षेत्र में अभिनव प्रयोग के द्वारा सम्पूर्ण विश्व कल्याण के लिये कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि योग के द्वारा शरीर और मन तथा आत्मा और परमात्मा के बीच सम्बन्ध स्थापित किया जाता हैं। योग से शरीर व मन दोनों को स्वस्थ्य रखा जा सकता है।

इस अवसर पर प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र की प्रमुख वक्ता राजयोगनी शीलू दीदी ने कहा कि योग भारत की बहुत प्राचीन पद्धति है इसलिए सारे विश्व से भारत में लोग योग सीखने के लिए आते है। योग एक संस्कृत के यजु शब्द से निकला है। योग का अर्थ है जोड़ना क्योकि योग शब्द का विलोम हैै वियोग। वियोग का अर्थ बिछुडना है। जैसे हम किसी प्रयोगशाला में दो चीजों को आपस मे जोड़ते है तो वो प्रयोग है। आज संसार में हमारे ऋषि मुनियों ने योग पर अलग-अलग तरीके से प्रकाश डाला है किसी ने शारीरिक क्रियाओं के माध्यम से, किसी ने हठ योग के माध्यम से किसी ने तंत्र विद्या के द्वारा योग को स्पष्ट करने की कौशिश की है। कार्यक्रम का संचालन बी.के. सुशील कुमार ने किया।

इस अवसर पर राजयोगनी मंजू दीदी, राजयोगनी मीना दीदी इत्यादि उपस्थित थे।